उत्तराखंड: कुत्ते को बेरहमी से मार डाला, मेनका गांधी ने दिया दखल, तब दर्ज हुआ मुकदमा

काशीपुर: पशुओं के साथ अक्सर लोग क्रूरता करते हैं। लेकिन, मामलों में कोई खास कार्रवाई नहीं होते है। ऐसे में मामलों में पुलिस भी कुछ नहीं करती है। ऐसा ही एक मामला काशीपुर में सामने आया है। पिता-पु़त्र ने कुत्ते को बेरहमी से मार डाला। जिसकी शिकायत परिवार की महिला ने पुलिस से की, लेकिन पुलिस ने मामले में कोई एक्शन नहीं लिया। महिला के पति ने मामले की पूरी जानमारी मेनका गांधी को दी, जिसके बाद अब मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

पुलिस को दी तहरीर में कहा गया है कि पिता-पुत्र ने क्रिकेट बैट से एक लावारिस कुत्ते को पीटकर मार डाला। घटना की सीसीटीवी फुटेज के साथ शिकायत करने पर भी पुलिस शिकायत करने वालों को टरकाती रही। इस पर आरोपी के शिक्षक पुत्र ने अपने पिता और छोटे भाई की करतूत के बारे में पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी से ई-मेल के जरिए बताया।

पशु अधिकार कार्यकर्ता, और पर्यावरणविद् मेनका गांधी के दखल के बाद मामले में पुलिस ने कार्रवाई की है। शिकायतकर्ता शिक्षक के पिता और भाई के खिलाफ पशु क्रूरता अधिनियम में मुकदमा दर्ज कर लिया है। मामला कुदईंयावाला गांव का है। शिकायत करने वाली रेखा ने बताया कि उसने चार महीने पहले कुंडा थाना पुलिस को तहरीर दी थी। उन्होंने शिकायत में लिखा था कि उसका पति पंकज कुमार सल्ट (अल्मोड़ा) में अध्यापक हैं और वह अपने ससुर सुरेंद्र सिंह के मकान के बगल में रहती है।

उसके घर के आसपास एक कुत्ता टहलता था, जिसे वह अक्सर खाना देती थी। आरोप है कि 22 फरवरी को शाम करीब साढ़े सात-पौने आठ बजे ससुर सुरेंद्र और देवर अमित कुमार ने क्रिकेट बैट से कुत्ते को बेरहमी से मार डाला। यह पूरी घटना सीसीटीवी में कैद है। रेखा का आरोप है कि उसका एक देवर पुलिस विभाग में है, उसके कहने पर कार्रवाई नहीं की जा रही है।

इसके बाद रेखा के पति पंकज ने घटना की जानकारी मेनका गांधी को मेल पर भेजी। इस पर मेनका गांधी ने काशीपुर सीओ आशीष भारद्वाज और एसओ प्रदीप नेगी से बात की। पुलिस का कहना है कि मामले की जांच कर कार्रवाई की जाएगी। परिवार के बीच आपसी विवाद भी है। लेकिन, जो भी सच होगा। उस पर एक्शन लिया जाएगा।

उत्तराखंड