कोटद्वार । लघु, सूक्ष्म एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय भारत सरकार के केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने कोटद्वार के ध्रुबपुर में मशरूम उत्पादन घरेलू परियोजना का शुभारम्भ किया। कार्यक्रम में उपस्थित लोगों ने मंत्री के पधारने पर जोरदार स्वागत किया। केंद्रीय मंत्री ने अपने सम्बोधन में कहा कि उत्तराखंड एक खूबसूरत स्थान पर बसा हुआ है, यहाँ अनेकों उत्पादन कर लोग अच्छी आमदनी कमा सकते हैं। कहा कि मशरूम उत्पादन घरेलू परियोजना के तहत  घर-घर में मशरूम उत्पादन के लिए लोगों जोड़ा जायेगा। जिससे वह मशरूम का उत्पादन कर मशरूम से विभिन्न तरह के प्रोडेक्ट तैयार कर अच्छी कीमत पर उसे बेच सकेंगे। कहा कि मशरूम की खेती करने के लिए इच्छुक बेरोजगार युवाओं को प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। जिससे वह अच्छे से मशरूम की खेती कर सकें। उन्होंने कहा कि एक दूसरे को मिलजुलकर रोजगार को बढ़ावा देना चाहिए, जिससे आमदनी में अत्यधिक वृद्धि हो सकेगी। कहा कि मशरूम उत्पादन से सब्जी के साथ-साथ अन्य औषधि प्रोडक्ट भी बनाए जाते हैं।
उन्होंने कहा कि गोवा मशरुम उत्पादन में पहले स्थान पर है, उत्तराखंड के घर-घर में मशरूम उत्पादन कर  देश के प्रथम स्थान पर लाना है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं से लोगों को सीधा लाभ पहुंचा है। केंद्र सरकार निरंतर रूप से जनता के हितों में कार्य कर रही है। कहा कि उत्तराखंड एक खूबसूरत जगह पर बसा हुआ है, यहां पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं इसको और बढ़ावा देने के लिए केंद्रीय पर्यटन मंत्री व उत्तराखंड के मुख्यमंत्री से वार्ता की जाएगी। मशरूम गर्ल दिव्या रावत ने अपने संबोधन में कहा कि मशरूम उत्पादन घरेलू परियोजना के तहत जनपद पौड़ी गढ़वाल के 4 हजार महिलाओं को रोजगार दिया जाएगा। जिससे वह मशरूम उत्पादन कर अपनी आर्थिकी मजबूत कर सकेंगे। कहा कि मशरूम का उत्पादन कर विभिन्न तरह के प्रोडक्ट तैयार किए जाएंगे जिन्हें अच्छे दाम पर  उत्तराखंड के साथ-साथ अन्य  राज्यों में भी  भेजे जाएंगे । कार्यक्रम में उप जिलाधिकारी लैंसडौन सोहन सिंह, सीओ कोटद्वार वैभव सैनी, अवंतम हिमालय फाउंडेशन से रीमा चौहान व सुनीता चौहान तथा स्वामी दर्शन भारती, महाप्रबंधक उद्योग शैलेंद्र डिमरी सहित महिला उद्यमी उपस्थित थे ।