उत्तराखंड: विधायक को किया नजरबंद, याद दिलाएंगे नानी…ये है मामला

हल्द्वानी: हल्द्वानी में अतिक्रमण के खिलाफ अभियान चल रहा है। इस अभियान पर सवाल उठ रहे हैं। विरोध करने जा रहे विधायक सुमित हृदयेश को उन्हीं के घर में नजरबंद कर दिया गया। सुमित हृदयेश ने मेयर जोगेंद्र रौतेला पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि जिन लोगों से नगर निगम कई सालों से खुद जगह देकर तहबाजारी वसूल रहा था। अब अचानक उनको क्यों हटाया जा रहा है। जबकि यही मेयर इससे पहले भी हल्द्वानी के मेयर थे। तब क्यों कार्रवाई नहीं की गई।

यूपी के बाद अब उत्तराखंड में भी जेसीबी गरजने लगी है। हल्द्वानी में नगर निगम ने आज मंगल पड़ाव में अतिक्रमण पर बड़ी कार्यवाही को अंजाम दियाए नगर निगम की टीम जैसे ही अतिक्रमण हटाने पहुंची वैसे ही स्थानीय लोगों ने पुलिस प्रशासन और नगर निगम का विरोध करना शुरू कर दिया। अतिक्रमण के दौरान प्रशासन से स्थानीय व्यापारियों की तीखी नोकझोंक और बहस भी हुई।

अतिक्रमण का विरोध कर रहे कई लोग जेसीबी के आगे बैठ गए और कार्रवाई का विरोध करने लगे। पुलिस ने सभी को बलपूर्वक हटाकर अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही शुरू की। अतिक्रमण हटाने के दौरान बड़ा बवाल पैदा ना हो इसको देखते हुए पुलिस ने हल्द्वानी से कांग्रेस विधायक सुमित हृदयेश को घर में ही नजरबंद कर दिया। विरोध की आशंका के चलते प्रशासन ने विधायक सुमित हृदयेश के घर पर भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दी, जिसके बाद सुमित हृदयेश की प्रशासन के अधिकारियों के साथ नोकझोंक भी हुई।

सुमित ने इसे बदले की कार्यवाही बतायाए उन्होंने कहा कि भाजपा हल्द्वानी मे अपनी हार को नहीं पचा पा रही है, जिसके चलते गरीबों के आशियाने पर जेसीबी चलाई जा रही है और उसे अतिक्रमण का नाम दिया जा रहा है। अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई के दौरान सिटी मजिस्ट्रेट और नगर निगम आयुक्त भी मौजूद रहे। सिटी मजिस्ट्रेट ने बताया कि मंगल पड़ाव क्षेत्र के मछली बाजार में आक्रमण हटाने को लेकर व्यापारियों को नोटिस भी जारी किया गया थाए कोई भी व्यापारी अपनी दुकान को लेकर कागज नहीं दिखा पाया, इसके चलते अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की गई है।

कांग्रेस विधायक सुमित हृदयेश को अतिक्रमण हटाने के दौरान घर में नजरबंद किये जाने के मामले पर प्रशासन का कहना है कि सुरक्षा कारणों के चलते विधायक से घर पर रहने का आग्रह किया गया था, जिससे अतिक्रमण के दौरान कानून व्यवस्था नहीं बिगड़े और अतिक्रमण हटाने का काम सुचारु रुप से चल सके। एहतियात के तौर पर विधायक सुमित हृदयेश के घर पर पुलिस फोर्स को तैनात किया गया है।

उत्तराखंड