उत्तराखंड: मंत्री धन सिंह रावत ने सोशल मीडिया में डाली पोस्ट, खड़ा हो गया विवाद

देहरादून: शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत विवादों और चर्चाओं में रहते हैं। किसी न किसी कारण उनके साथ विवाद जुड़ ही जाता है। अब वो एक बार फिर से चर्चाओं में हैं। इस बाद धन सिंह रावत ने सोशल मीडिया में एक ऐसी पोस्ट की है, जिस पर कांग्रेस ने गंभीर सवाल खड़े किए हैं।

नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने कहा कि भाजपा ने असंवैधानिक काम किया है। मंत्री धन सिंह रावत ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा है कि राष्ट्रीय संगठन मंत्री बीएल संतोष और पदाधिकारियों ने मंत्री परिषद की बैठक में भाग लिया। इन पदाधिकारियों में उत्तराखंड प्रभारी और सह प्रभारी भी हैं।

नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने इस पर आपत्ति जताई है। उन्होंने कहा कि इन पदाधिकारियों ने मंत्री के रूप में शपथ नहीं ली है। इसलिए यह मंत्रीपरिषद का हिस्सा नहीं हैं तो प्रदेश कार्यालय में मंत्रीपरिषद की बैठक कैसे हो सकती है। आर्य ने कहा कि मंत्री जी भारत के संविधान के आर्टिकल 163 और 164 में राज्य सरकारों के मंत्रिपरिषद के संबंध में स्पष्ट रूप से लिखा है।

उन्होंने तंज कसा कि श्या आजकल जो भाजपा करे वही संविधान हैश् वाला समय आ गया है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि आप सभी ने भारत के संविधान में वर्णित पद और गोपनीयता की शपथ ली है, उसका मान रख लीजिए।

नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने आगे कहा कि मुख्यमंत्री सहित आप सभी मंत्रीगण सामुदायिक उत्तरदायित्व के सिद्धांत से बंधे हैं। आप सभी के लिए व्यक्तिगत रूप से कोई भी आदरणीय या पूज्यनीय हो सकता है, लेकिन आप खुले आम घोषणा के साथ संविधान की धज्जियां नहीं उड़ा सकते। उन्होंने मुख्यमंत्री से इस बैठक पर स्थिति स्पष्ट करने की मांग की है।

उत्तराखंड