उत्तराखंड: मेडिकल कॉलेज हॉस्टल में फिर मारपीट, रैगिंग या कुछ और

हल्द्वानी: हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज में विवादों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। पिछले दिनों रैगिंग के मामले ने जोर पकड़ा था। अब एक और मामला सामने आया है। यहां बॉयज हॉस्टल में इंटर्न और एमबीबीएस के फाइनल ईयर छात्र के बीच देर रात मारीट हो गई। माना जा रहा है कि यह मामला भी रैगिंग का है। रात करीब सवा दस बजे इसकी सूचना मिलने पर मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य, वार्डन और दूसरे जिम्मेदार लोगों ने हॉस्टल पहुंचकर मामले की जानकारी जुटाई।

इस मामले में शुक्रवार को अनुशासन समिति और शाम को एंटी रैगिंग कमेटी की बैठक हुई। हालांकि दोनों पक्षों में सुलहनामा होने के कारण कोई विधिक कार्रवाई नहीं की गई है पर अनुशासन समिति ने इंटर्न छात्र पर कड़ी कार्रवाई की है। इसमें इंटर्न को हॉस्टल से निष्कासित करने के साथ ही जुर्माना भी लगाया गया है। कॉलेज प्रबंधन का कहना है कि अंतिम वर्ष के छात्र ने पीटने का आरोप लगाते हुए लिखित में शिकायत की थी।

मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. अरुण जोशी ने बताया कि इस मामले में सभी पहलू को देखा गया है। इंटर्न छात्र को अनुशासन समिति के समक्ष पेश किया गया। इसके बाद समिति ने इंटर्न को हॉस्टल से स्थायी तौर पर निकालने के साथ तीन महीने के लिए इंटर्नशिप रोक दी है।

इंटर्न पर 25 हजार का जुर्माना लगाया गया है। यह राशि चार मई तक जमा करनी होगी। इंटर्न को अभिभावक को भी बुलाने के लिए कहा गया है। इंटर्न छात्र ने भी फाइनल ईयर के छात्र की ओर से पीटने की बात कही है।

उत्तराखंड