उत्तराखंड: कुत्ता घुमाने के विवाद में पॉलिटेक्निक के छात्र को मार डाला!

ऊधमसिंह नगर: हत्या के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। खासकर ऊधमसिंह नगर जिले में तो अपराधों में तेजी से इजाफा हुआ है। हत्या के मामलों ने भी रफ्तार पकड़ी है। ऐसा ही एक और मामला सामने आया है। कुछ लोगों ने पॉलिटेक्निक के छात्र की पहले लाठी-डंडों से पिटाई की और फिर गला दबाकर बेरहमी से हत्या कर दी। मामले में पुलिस ने जांच शुरू कर दी हैं

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार कुत्ता घुमाने को लेकर हुए मामूली विवाद में एक परिवार के इकलौते बेटे को मौत के घाट उतार दिया। जानकारी के अनुसार कुत्ता घुमाने को लेकर एक साल पहले दो परिवारों में विवाद हुआ था। जिस युवक की हत्या हुई है, उसको विधानसभा चुनाव से पहले एक हमलावर ने मुखबिरी का आरोप लगाकर धमकी दी थी। पुलिस ने तीन आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर एक को गिरफ्तार कर लिया है।

आईटीआई थाना क्षेत्र में हेमपुर इस्माइल निवासी योगेंद्र चौधरी उर्फ मोनू राजकीय पॉलिटेक्निक में मैकेनिकल का छात्र था। उसके पिता वीर सिंह चौधरी टेंपो चलाकर परिवार का भरण-पोषण करते हैं। योगेंद्र 10 जून को दोपहर तीन बजे से गायब था। उसकी मां कमलेश ने योगेंद्र के मोबाइल पर कॉल की तो देर रात तक स्विच ऑफ जाता रहा।

रात करीब 11 बजे हेमपुर इस्माइल निवासी मनीष सैनी की सूचना पर बाजपुर रोड स्थित बहल्लापुल के पास पहुंची 108 एंबुलेंस ने घायल योगेंद्र को अस्पताल पहुंचाया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मनीष ने ही 112 नंबर पर पुलिस को योगेंद्र की हत्या हो जाने की सूचना दी। सूचना पर थाना प्रभारी आशुतोष सिंह, एसआई महेश चंद्र और एसआई सुरभि बौड़ाई आदि ने मौके पर पहुंचकर जांच की।

पुलिस ने योगेंद्र के घर पहुंचकर उसके पिता वीर सिंह और ताऊ नरेश को घटना की जानकारी दी। सूचना पर पहुंचे पिता ने शव की शिनाख्त की। पुलिस ने मनीष को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने हेमपुर इस्माइल निवासी हरनेक सिंह और ग्राम उदमावाला थाना रोशनपुर मुरादाबाद निवासी अर्जुन सिंह के साथ योगेंद्र उर्फ मोनू की हत्या करने का जुर्म कबूला।

वीर सिंह का कहना है कि एक वर्ष पूर्व कुत्ता घुमाने को लेकर उसके पुत्र योगेंद्र की हरनेक के साथ कहासुनी हो गई थी। विधानसभा चुनाव से पहले काशीपुर पुलिस ने हरनेक को तमंचे के साथ गिरफ्तार किया था। छूटने के बाद हरनेक ने उनके बेटे पर मुखबिरी करने का आरोप लगाते हुए अंजाम भुगतने की धमकी दी थी। एसपी चंद्रमोहन सिंह ने बताया कि पुलिस ने हरनेक और मनीष आदि के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर मनीष सैनी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस फरार दोनों आरोपियों की तलाश कर रही है।

पुलिस के अनुसार पॉलीटेक्निक के छात्र की हत्या से पहले दोनों पक्षों के बीच हाथापाई भी हुई थी। मारपीट के दौरान योगेंद्र शुरू में वह हमलावरों पर भारी पड़ा, लेकिन, इस बीच उसका पैर फिसल गया और उठ नहीं पाया। इसी दौरान हमलावरों ने उस पर लाठी-डंडों से ताबड़तोड़ हमले कर दिए, जिससे वो बुरी तरह घायल हो गाया। इस दौरान एक आरोपी ने उसका गला दबा दिया, जिससे उसकी मौत हो गई।

उत्तराखंड