#JusticeForAnkita : राहुल गांधी ने केरल में निकाली रैली, BJP सरकार पर निशाना पहाड़ समाचार editor

देहरादून: अंकिता हत्याकांड (Ankita Murder case) को लेकर उत्तराखंड ही नहीं। बल्कि, देशभर के लोगों में गुस्सा है। लोग अंकिता के हत्यारोपी BJP नेता के बेटे के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। प्रदेशभर में आंदोलन हो रहे हैं। देश के दूसरे शहरों से भी अंकिता के लिए न्याय (#JusticeForAnkita) के लिए लोग आवाज बुलंद कर रहे हैं। उत्तराखंड कांग्रेस भी इस मामले में लगातार मुखर है।

इतना ही नहीं कांग्रेस के राष्ट्रीय नेता भी इस पर पूरी नजर बनाए हुए हैं। भाजपा हर बार राहुल गांधी को निशाने पर लेकर उनको असंवेदनशील बताने का प्रसास करती है। लेकिन, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी हर बार कुछ ऐसा करते हैं कि भाजपा को बैकफुट पर आना पड़ता है। राज्य सरकार भले ही कार्रवाई के दावे कर रही हो, लेकिन लोग अब भी सरकार पर सवाल उठा रहे हैं। केवल सवाल ही नहीं, बल्कि उन सवालों की वजह भी बता रहे हैं।

केरल में भारत जोड़ा यात्रा के दौरान कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने उत्तराखंड में अंकिता हत्याकांड के दोषियों पर कड़ी कार्रवाई करने की मांग कर रहे हैं। राहुल ने BJP पर करारा प्रहार किया है। भारत जोड़ो यात्रा के दौरान एक सभा में राहुल ने कहा कि भाजपा नेता के बेटे ने एक युवा लड़की को प्रोस्टिट्यूशन में जबरन धकेलने का प्रयास किया। लड़की ने मना किया तो उसे मार दिया गयां

राहुल गांधी ने मुख्यमंत्री पर जानबूझकर साक्ष्य नष्ट करने का आरोप भी लगाया। वीडियो में राहुल गांधी ने अंकिता हत्याकांड के बहाने भाजपा की विचारधारा को निशाने पर लिया। अंकिता के वाट्सएप चैट का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा नेता का बेटा होटल चला रहा था। वहां 15 हजार रुपये में रिसेप्शनिस्ट का काम कर रही युवती को प्रोस्टिट्यूशन के लिए विवश किया जा रहा था।

उन्होंने इस हत्याकांड के आरोपितों पर कार्रवाई को लेकर सवाल खड़े किए। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी पर इस मामले में साक्ष्य नष्ट करने का आरोप लगाते हुए राहुल ने यह भी कहा कि भाजपा की महिलाओं को लेकर यही विचारधारा है। इस विचारधारा के साथ भाजपा कभी सफल नहीं हो सकता। राहुल की सभा में एक मिनट का मौन रख अंकिता को श्रद्धांजलि दी गई।

#JusticeForAnkita : राहुल गांधी ने केरल में निकाली रैली, BJP सरकार पर निशाना पहाड़ समाचार editor

Leave a Reply