देहरादून : तम्बाकू मुक्त उत्तराखंड के लिए आगामी 31 मई को विश्व तम्बाकू निषेध दिवस पर प्रदेशभर के पांच लाख लोग तम्बाकू निषेध की शपथ लेंगे। दून मेडिकल कॉलेज में आयोजित तम्बाकू निषेध शपथ समारोह में अंडमान-निकोबार के उप राज्यपाल एडमिरल डीके जोशी मुख्य अतिथि एवं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी बतौर विशिष्ट अतिथि सम्मिलित होंगे।

प्रदेश के समस्त राजकीय विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों, विद्यालयों में छात्र-छात्राओं के अलावा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण सहित पंचायतीराज विभागों के अधिकारी एवं कर्मचारी तम्बाकू निषेध की शपथ लेंगे।

चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने मीडिया को जारी एक बयान में बताया कि आगामी 31 मई को विश्व तम्बाकू निषेध दिवस पर प्रदेशभर में पांच लाख लोग तम्बाकू मुक्त उत्तराखंड के लिए तम्बाकू निषेध की शपथ लेंगे।

उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा दून मेडिकल कॉलेज में तम्बाकू निषेध शपथ समारोह आयोजित किया जाएगा, जिसमें अंडमान-निकोबार के उप राज्यपाल एडमिरल डीके जोशी मुख्य अतिथि होंगे जबकि विशिष्ट अतिथि के तौर पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी कार्यक्रम में सम्मिलित होंगे।

डॉ. रावत ने बताया कि इस अवसर पर प्रदेशभर के सभी शासकीय एवं अशासकीय विद्यालयों में प्रातः होनी वाली प्रार्थना के ठीक बाद छात्र-छात्राएं तम्बाकू निषेध की शपथ लेंगे जबकि उच्च शिक्षा संबंधी समस्त विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों, स्वास्थ्य, शिक्षा एवं पंचायतीराज विभागों में सुबह 10 बजे तम्बाकू मुक्त उत्तराखंड के लिए तम्बाकू निषेध की शपथ लेंगे। उन्होंने बताया कि जनपद स्तर पर तम्बाकू निषेध शपथ समारोह में विधायक एवं स्थानीय जनप्रतिनिधि भी सम्मिलित होंगे। विभागीय मंत्री ने बताया कि शपथ समारोह को सफल बनाने के लिये राज्य स्तर पर निदेशक एनएचएम डॉ. सरोज नैथानी को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।

जबकि जनपद स्तर पर मुख्य चिकित्साधिकारी, मुख्य शिक्षाधिकारी एवं जिला पंचायतीराज अधिकारी को जिम्मेदारी सौंपी गई है, जो स्टेट नोडल को सहयोग करेंगे। शपथ समारोह में अधिक से अधिक लोगों की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देशित कर दिया गया है।

इसके अलावा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत संचालित ‘आओ गांव चलें, उत्तराखंड को तम्बाकू मुक्त’ करें अभियान में विशिष्ट कार्य करने वाले विभाग, अधिकारी, कर्मचारी एवं व्यक्ति को शपथ समारोह में सम्मानित किया जायेगा। डॉ. रावत ने कहा कि एक सर्वे के मुताबिक राज्य में 26.5 प्रतिशत लोग तम्बाकू का सेवन करते हैं।

इस आंकडे को कम करने के लिए लोगों को जागरूक किया जाना जरूरी है तभी जाकर उत्तराखंड तम्बाकू मुक्त राज्य का दर्जा हासिल कर सकेगा। उन्होंने कहा कि तम्बाकू सेवन से भले ही क्षणिक सुख मिलता हो लेकिन धीरे-धीरे शरीर असाध्य बीमारियों से घिर जाता है।

Leave a Reply