उत्तराखंड: पुरोला नगर पंचायत घपले का देहरादून तक असर, इस अधिकारी को हटाया!

  • पुरोला नगर पंचायत अध्यक्ष सवालों के घेरे में हैं।

  • पुरोला मामले में शासन ने शहरी विकास विभाग के अनुभाग अधिकारी का हराया।

देहरादून: पुरोला नगर पंचायत में मुख्यमंत्री घोषणा के कार्यों को विलोपित किए जाने के बाद से नगर पंचायत अध्यक्ष सवालों के घेरे में हैं। उन पर लगातार भ्रष्टाचार और पद का दुरुपयोग कर हितालाभ के आरोप भी लग रहे हैं। हालांकि, नगर पंचायत अध्यक्ष सभी आरोपों को सिरे से खारिज कर रहे हैं। लेकिन, पुरोला नगर पंचायत से जुड़े मामले में शहरी विकास विभाग के जिस अधिकारी का नाम सामने आया था। उस अधिकारी को शासन ने शहरी विकास निदेशलय से हटा दिया है।

हालांकि, संबंधित अनुभाग अधिकारी के साथ अन्यों के दबादले भी हुए हैं। लेकिन, अनुभाग अधिकारी विक्रम सिंह चौहान को हटाए जाने के पीछे पुरोला नगर पंचायत भ्रष्टाचार मामले में उन पर आरोपों को कारण माना जा रहा है। दरअसल, भाजपा सभासदों ने अनुभाग अधिकारी विक्रम चौहान पर भी मिलीभगत का आरोप लगाया है।

उत्तराखंड: अगले 24 घंटे के लिए अलर्ट जारी, ऐसा रहेगा मौसम, कई सड़कें बंद

इससे एक बात तो साफ है कि नगर पंचायत पुरोला में हुई गड़बड़ी को लेकर सरकार गंभीर है। सीएम धामी ने इस मामले में खुद एक्शन लेने के निर्देश दिए थे। साथ ही शहरी विकास मंत्री प्रेम चंद अग्रवाल ने भी जिलाधिकारी को मामले की जांच के निर्देश दिए थे।

सीएम धामी के एक्शन के बाद से नगर पांचयत पुरोला में भ्रष्टाचार के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। भाजपा सभासदों की ओर से पूर्व में की गई जांचों पर भी बड़ा एक्शन हो सकता है। उसमें अतिक्रमण से लेकर अनुबंध पर वाहनों को रखने के मामले भी हैं।

उत्तराखंड