देहरादून : जिलाधिकारी सोनिका की अध्यक्षता में ऋषिपर्णा सभागार में जनसुनवाई कार्यक्रम आयोजित किया। जनसुनवाई में आज 79 शिकायतें प्राप्त हुई, जिनमें अधिकतर मामले भूमि से संबंधित प्राप्त हुए इसके अतिरिक्त पेंशन, सड़क, आपदा, कोविड के दौरान राशन का भुगतान, शस्त्र लाइसेंस, गुमशुदा की तलाश करवाने, रास्ते पर गैराज बनाने, खोए हुए फोन को वापस दिलाने, जल जीवन मिशन के कार्यों की जांच कराने आदि शिकायतें प्राप्त हुई। जनसुनवाई के दौरान आज धर्मपुर निवासी फरयादी श्रीमती परीक्षा ने भूमि पर कब्जा दिलाए जाने पर जिलाधिकारी का धन्यवाद ज्ञापित किया। उन्होंने बताया कि उनके परिजनों द्वारा भूमि पर अवैध कब्जा किया गया था। जिस पर न्यायालय के आदेश के उपरान्त भी परिजन कब्जा नहीं दे रहे थे। जनसुनवाई में जिलाधिकारी ने कार्यवाही के निर्देशों के क्रम में जिला प्रशासन द्वारा उन्हें उनकी भूमि पर कब्जा दिलाया गया जिस पर उन्होंने जिलाधिकारी का धन्यवाद ज्ञापित किया। 

प्राप्त शिकायतों में सेन्ट्रल होपटाउन में भूमि के सीमाकंन पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन की कोर्ट से जांच होने तक स्टे के क्रम में शीघ्र जांच कराने के अनुरोध पर जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी विकासनगर को आवश्यक निर्देश दिए। इसी प्रकार रास्ते पर गैराज बनाने की शिकायत पर नगर मजिस्ट्रेट एवं एमडीडीए के अधिकारियों को जांच के निर्देश दिए। ऋषिकेश क्षेत्र में वर्ष 1994 में परिवार नियोजन पर दिए गए पट्टे पर कब्जा दिलाने की मांग/शिकायत पर उपजिलाधिकारी ऋषिकेश को आवश्यक कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया। माजरी माफी मोहकमपुर में अनाधिकृत निर्माण की जांच कराने की शिकायत पर एमडीडीए को कार्यवाही के निर्देश दिए। तहसील त्यूनी अन्तर्गत पीएमजीएसवाई निर्माणखण्ड कालसी द्वारा त्यूनी चांदनी डेरसा मोटरमार्ग के निर्माण कार्यों में अनियमितता की शिकायत पर जिलाधिकारी ने एसडीएम चकराता एवं अधि0 अभि0 पीएमजीएसवाई को जांच कर आख्या प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। इसी प्रकार नकरोंदा में भूमाफियाओं द्वारा अवैध प्लाॅटिंग एवं बिना मानचित्र स्वीकृत कराए निर्माण कार्य किए जाने की शिकायतों पर उप जिलाधिकारी सदर एवं एमडीडीए के अधिकारियों को जांच करने के निर्देश दिए। इसी प्रकार सैंज-अटाल में जल जीवन मिशन के कार्योें में अनियमितता किए जाने की शिकायतों पर उपजिलाधिकारी चकराता एवं अधि0 अभि0 जल संस्थान को कार्यवाही करने के निर्देश दिए।

इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन डाॅ. एस.के बरनवाल, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व के.के मिश्रा, अपर मुख्य नगर अधिकारी नगर निगम जगदीश लाल, नगर मजिस्ट्रेट कुश्म चौहान, उप जिलाधिकारी नरेश चन्द दुर्गापाल, विशेष भूमि अध्यापति अधिकारी के.एस नेगी, निदेशक ग्राम्य विकास अभिकरण आरसी तिवारी, तहसीलदार सदर सोहन सिंह रागंड, सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी अरविन्द पाण्डेय सहित जल संस्थान, विद्युत, पेयजल निगम, सिंचाई, लोनिवि, स्वास्थ्य, राजस्व विभागों सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे तथा उप जिलाधिकारी चकराता, विकासनगर, डोईवाला एवं ऋषिकेश वर्चुअल माध्यम से जुड़े रहे।

 

You missed