देहरादून : कई सालों से दुर्गम में तैनात शिक्षकों के अच्छे दिन में आने वाले हैं। शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि स्थानांतरण में उन शिक्षकों को प्राथमिकता दी जाए, जो लंबे समय से दुर्गम में सेवाएं दे रहे हैं।

उन्होंने शिक्षा विभाग के अंतर्गत होने वाले शिक्षकों के स्थानांतरण में पारदर्शिता बरतने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिए हैं। शिक्षा मंत्री ने कहा कि दुर्गम क्षेत्रों में वर्षों से सेवारत शिक्षकों का स्थानांतरण प्राथमिकता के आधार पर किया जाए।  जिले में स्थानांतरण करने की अनुमति जनपदीय अधिकारियों दी जायेगी।

धन सिंह सिंह रावत ने बताया कि शिक्षा विभाग के अंतर्गत होने वाले शिक्षकों के स्थानांतरण में पूरी पारदर्शिता बरती जायेगी, जिसके निर्देश विभागीय अधिकारियों को दे दिए गये हैं।

उन्होंने कहा कि शिक्षकों के स्थानांतरण में किसी भी प्रकार की कोताही नहीं बरती जायेगी, यदि शिक्षकों के ट्रांसफर में कोई गड़बड़ी पायी जाती है,  तो इसके जिम्मेदार विभागीय अधिकारी होंगे।

डॉ. रावत ने कहा कि स्थानांतरण पॉलिसी के तहत ऐसे शिक्षकों को प्राथमिकता के आधार पर ट्रान्सफर किया जायेगा, जो वर्षों से दुर्गम क्षेत्रों में सेवाएं दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे सैकड़ों शिक्षक हैं, जिन्होंने अपनी सेवा का अधिकतम समय दुर्गम क्षेत्रों में काट लिया, जबकि वह सुगम में स्थानांतरण के पात्र थे।

विभागीय मंत्री ने कहा कि ऐसे शिक्षकों को जनपद स्तर पर स्थानांतरण किया जायेगा, जो कई वर्षों से एक ही स्कूल में डटें हैं। इनके स्थानांतरण के लिये शीघ्र ही जनपद स्तरीय अधिकारियों को अनुमति दी जाएगी।

Leave a Reply