भीषण हादसा : एक ही गांव के 26 लोगों की मौत, मची चीख-पुकार पहाड़ समाचार editor

कानपुर में घाटमपुर क्षेत्र के भीतरगांव में बड़ा हादसा हो गया है। भीतरगांव के भदेउना गांव के पास श्रद्धालुओं से भरा ट्रैक्टर-ट्राली अनियंत्रित होकर पलट गई। इसमें 26 लोगों की मौत हो गई, जबकि 50 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। इस मामले में लापरवाही के चलते स्टेशन इंचार्ज को निलंबित कर दिया गया है। बाहरी कानपुर के एसपी टीएस सिंह ने कहा कि जांच चल रही है। अगर कोई और भी दोषी पाया गया तो कार्रवाई की जाएगी।

जानकारी के अनुसार, कोरथा गांव निवासी एक मुंडन संस्कार में फतेहपुर गए थे। वहीं, से मुंडन करा कर लौट रहे ट्रैक्टर सवार ट्राली सहित हादसे के बाद खंती पानी भरे में जा गिरे। घटना से भयंकर चीख पुकार मच गई। आधे घंटे तक ट्राली बाहर नहीं निकाली जा सकी। इससे पानी के अंदर ही अधिकतर लोगों की मौत हो गई है। कानपुर के डीएम विशाक अय्यर ने बताया कि सभी 26 शवों का पोस्टमार्टम किया जा चुका है। शवों को उनके गांव भेजा गया है। मौके पर पुलिस और प्रशासन के उच्च अधिकारी पहुंच रहे हैं। बताया जा रहा है कि ट्रैक्टर में करीब 50 लोग सवार थे। 26 लोगों की मौत हो गई है। मृतकों में कई बच्चे और महिलाएं भी शामिल हैं। पुलिस प्रशासन के अफसर मौके पर पहुंच रहे हैं और रेस्क्यू अभियान जारी है।

पीएम मोदी और सीएम योगी ने जताया दुख
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घाटमपुर सड़क  हादसे में हुई लोगों की मौत पर दुख जताया और उनके परिजनों के लिए राहत कोष से मदद दिए जाने की घोषणा की। पीएम राहत कोष से हादसे में मारे गए व्यक्ति के परिजन को 2 लाख और घायलों को 50 हजार रुपये देने की घोषणा की गई है।  वहीं, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घाटमपुर ट्रैक्टर-ट्राली हादसे में लोगों की मौत पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने शोकाकुल परिजनों के प्रति संवदेना व्यक्ति करते हुए हादसे में घायल हुए लोगों के उचित उपचार की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। घायलों को 50 हजार और मृतकों के परिजनों को दो लाख रुपये मुआवजा देने का एलान किया गया है।
छावनी में तब्दील हुआ हैलट हॉस्पिटल
कानपुर नगर में ट्रैक्टर की ट्राली पलट जाने से लगभग 26 लोगों की मौत हो गई, जबकि अन्य गंभीर रूप से घायल हैं। मौके पर आठ एम्बुलेंस 108 और 102 ने तुरंत मरीजों को सीएससी में भर्ती करा दिया। उसके बाद मरीजों को हैलट मेडिकल कॉलेज रेफर किया जा रहा है। हैलट हास्पिट को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। वहीं, हास्पिटल में पहले से भर्ती मरीजों को वार्ड्स में शिफ्ट किया गया है।

हादसे में घायल ज्ञानवती ने बताया कि उनके छोटे बेटे अभी का आज मुंडन समारोह था। वह उनके पति राजू, दो बेटियों रिया व प्रिया, सास जानकी और गांव के अन्य लोगों के साथ मुंडन समारोह में गए हुए थे। वहां से वापसी के समय हादसा हो गया था, जबकि उनके  ससुर सिद्धि लाल घर पर ही थे। घर से 5 किलोमीटर पहले हादसा हुआ है। बता दें कि सभी मृतक मल्लाह वर्ग के बताए जा रहे हैं। ट्रैक्टर चालक के नशे में होने की भी बात सामने आई है।

भीषण हादसा : एक ही गांव के 26 लोगों की मौत, मची चीख-पुकार पहाड़ समाचार editor

Leave a Reply